Essay on Summer Vacation in Hindi

Essay on Summer Vacation in Hindi | ग्रीष्मावकाश पर निबंध हिंदी में

ग्रीष्मावकाश पर निबंध हिंदी में – Essay on Summer Vacation in Hindi

Essay on Summer Vacation in Hindi
Essay on Summer Vacation in Hindi | ग्रीष्मावकाश पर निबंध हिंदी में

Essay on Summer Vacation in Hindi 150 Words

ग्रीष्मकालीन अवकाश वह समय है जब गर्मियों के महीनों में उच्च तापमान के कारण स्कूल व अन्य शिक्षा संस्थान बंद रहते है। बच्चों को बहुत सारा आनंद मिलता है क्योंकि उन्हें डेढ़ महीने की छुट्टियाँ जो मिलती है। बच्चे तैराकी, नृत्य आदि जैसी विभिन्न गतिविधियों में जाकर अपनी छुट्टियाँ बिताते है जो कि समय की कमी के कारण वे अपने स्कूल के समय में नहीं कर सकते हैं। ग्रीष्मकालीन शिविर स्कूलों में आयोजित किये जाते हैं और बच्चे इन शिविरों में शामिल होकर कई चीजें सीख सकते हैं।

छात्रों को पाठ्यक्रम को कवर करने और उन विषयों को बेहतर बनाने के लिए बहुत समय मिल जाता है जिनमें वे कमजोर होते है। वे अपने परिवार के साथ काफी समय बीता सकते है कुछ घूमने के लिए जाते है और कुछ अपने प्रिय दोस्तों व रिश्तेदारों के साथ अच्छा समय बिताते है। ग्रीष्मकालीन अवकाश वह है जो हर छात्र चाहता हैं। यह उन्हें उबाऊ दिनचर्या से बाहर निकलने और कुछ दिलचस्प काम करने में मदद करता है। जब छात्र छुट्टी के बाद स्कूल लौटते हैं तो वे ऊर्जावान और आगे पढ़ने के लिए आराम से तैयार होते है।

Essay on Summer Vacation in Hindi 300 Words

मेरा स्कूल 10 मई से लेकर 20 जून तक ग्रीष्मावकाश के लिए बंद कर दिया गया था। जैसे ही स्कूल में गर्मी छुट्टी पड़ी उसकी खबर मैंने तुरंत अपने घर में दी। मैंने पहले से ही ग्रीष्मावकाश घरवालों के साथ शिमला जाने का कार्यक्रम बना रखा था। मुझे पहाड़ी जगहों पर जाना बहुत पसंद है। मै, मेरे – पापा मम्मी, एक छोटा भाई और एक मेरी बड़ी बहन, हम सभी ने शिमला जाने के लिए तैयारियाँ शुरू कर दी। हम सभी शिमला जाने के लिए बहूत उत्सुक थे।

गर्मी की छुट्टी मिलते ही हम सभी ने उसी रात अपना सामान पैक किया और उसके अगले ही दिन सुबह लगभग 6 बजे में हमने दिल्ली से शिमला के लिए ट्रेन पकड़ा। हम लगभग 1 बजे शिमला स्टेशन पहुंचे। शिमला पहुंचकर ऐसा लगा जैसे हम स्वर्ग में आ गये हों। वहाँ चारो तरफ हरियाली ही हरयाली थी। गर्मी के मौसम में भी वहाँ का मौसम बहूत सुहावना था। चारों तरफ ठंडी – ठंडी हवा चल रही थी। स्टेशन से हम ई – रिक्शा लेकर वहाँ के एक होटल में गये। वहाँ पर हमने पहले ही एक कमरा बुक किया हुआ था। हम सब ने वहाँ खाना खाया और और थोड़ी देर आराम किया। लगभग 2 घंटें आराम करने के बाद हम सभी बाहर घूमने के लिए निकले।

शिमला में हमने बर्फ से ढके पहाड़ों को देखा, सुहावनी झीलें देखीं। शिमला सभी पर्यटकों को गर्मी के दिनों में यहाँ आने के लिए आकर्षित करता है क्यूंकि यहाँ गर्मी का अहसास नही होता। यह एक बहुत ही यादगार दृश्य था। हमने कई यादगार चित्रों पर कब्जा कर लिया और बहुत मज़ा लिया। हम कई ऐतिहासिक स्थानों पर जा कर कई दिन बिताए। मेरी गर्मी की छुट्टियाँ खत्म होते ही हम सभी घर वापस आ गये। यह मेरे जीवन की वास्तव में बहुत अच्छी यात्रा थी। जिसे मैं कभी भूल नहीं सकता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *