Essay on Swan in Hindi हंस पर निबंध

In this article, we are providing information about swan in Hindi, so we are starting first of all from essay on Swan in Hindi language हंस पर निबंध.

Essay on Swan in Hindi हंस पर निबंध

Essay on Swan in Hindi 100 Words

पक्षी प्रजातियों में से हंस को सबसे श्रेष्ठ माना जाता है। हंस को प्यार और पवित्रता का प्रतीक माना जाता है। हंस दुनिया के सभी क्षेत्रों में पाया जाता है। संसारभर में हंसों की सात प्रजातियां पायी जाती हैं। आमतौर पर हंस झीलों या बडे-बडे तालाबों में रहते हैं। हंस का जीवनकाल 8 से 12 साल का है। हंस जगत के देवता ब्रह्मा और माता सरस्वती का वाहन है। हंस सफेद, काले और भूरे रंग में पाए जाते है और उसकी चोंच नारंगी रंग कि होती है। हंस ज्यादातर बीज , बेरियां और छोटे – मोटे कीडे मकौडे खाते हैं। हंस बतख से मिलते जुलते जलीय पक्षी हैं जो अपना ज्यादातर जीवन पानी में ही गुजार देते हैं।

Essay on Swan in Hindi 200 Words

हंस को प्यार का प्रतीक मन जाता है। हंस जल में रहने वाला एक बहुत ही खूबसूरत पक्षी होता है, जो की अन्य पक्षियों से बहुत ही बड़ा भी होता है। पूरे विश्व भर में हंस की 7 से ज्यादा प्रजातियां पाई जाती है। यह एक ऐसा पक्षी है जो आम-तौर पर सभी देशो में पाया जाता है। ज्यादातर हंस सफ़ेद रंग में पाए जाते है और ऑस्ट्रेलिया में यह काले रंग के पाए जाते है। केवल अफ्रीका और अंटार्टिका में यह पक्षी नै पाए जाते। यह सबसे ज्यादा उड़ने वाले पक्षियों में से एक है, जो हवा में 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से उड़ सकते है। जब सभी हंस इकठे समूह में उड़ते है तो यह सभी एक ही अकार में उड़ते है।

दो हंसो के जोड़े को प्रेम का प्रतीक माना जाता है क्योकि यह पक्षी अपने जीवन साथी से बहुत प्रेम करते है और पूरी ज़िन्दगी एक दूसरे का साथ देने की कोशिश करते है। हंस पक्षी शांत होते है और धीरे धीरे पानी में तैरते है। इनका वजन करीब 15 किलो के होता है और इनके शरीर पर 25 हज़ार से भी ज्यादा पंख पाए जाते है।

अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे। Thank you for reading Essay on Swan in Hindi हंस पर निबंध.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *