Visit To Zoo in Hindi

Visit To Zoo in Hindi – Short Essay and Paragraph

चिड़ियाघर की सैर पर अनुच्छेद और निबंध | Visit to Zoo in Hindi – Paragraph and Essay on Visiting a Zoo in Hindi

Visit To Zoo in Hindi
Short Essay and Paragraph – Visit to Zoo in Hindi | चिड़ियाघर की सैर पर अनुच्छेद और निबंध

Visit To Zoo in Hindi

चिड़ियाघर की सैर हमेशा बहुत दिलचस्प होती है। चिड़ियाघर एक ऐसा स्थान है जहाँ बच्चे विशेष रूप से जाना पसंद करते हैं। मैं पशु प्रेमी हूँ। मैं विभिन्न प्रकार के जानवरों को देखना चाहता हूँ क्यूंकि यह हमारे ज्ञान को बढ़ाता है।

पिछले रविवार मैं अपने दोस्तों के साथ दिल्ली चिड़ियाघर का सैर किया था। यह दिल्ली का सबसे बड़ा चिड़ियाघर है। चिड़ियाघर का नाम नेशनल जूलॉजिकल पार्क है। इस चिड़ियाघर में प्रतिदिन हजारों की संख्या में लोग जंगली जीव – जन्तुओं को देखने आते हैं। यहाँ पर सबसे पहले हमने तालाब में बतख और हंस को देखा। | बतख और हंस तालाबों में तैर रहे थे जो दिखने में काफी अच्छे लग रहे थे। कुछ पंछियाँ चह-चहा और सिटी बजा रही थी। हमनें मगरमच्छ, कंगारू, हिरण और हाथी आदि को भी देखा। विभिन्न पिंजरों में बंदर थे। बंदर पेड़ की शाखाओं में यहाँ – वहाँ कूद रहे थे। यहाँ पर कई प्रजाति के बंदरों को हमने देखा।

यहाँ पर सबसे मनोरंजक चंचल चिम्पांजी थे जो कभी – कभी अजीब हरकतें करते थे, जिसे देख हम सभी दोस्त बहुत जोर से हँसते थे। चिम्पाजीओं के साथ कुछ समय बिताने बाद हम पक्षियों के पिंजरों में आए, वहाँ कबूतर, तोता, मोर, चील इत्यादि जैसे विभिन्न प्रकार के पक्षी थे। हमने सफेद मोरे भी देखा जो बहुत ही अदवितीय और सुंदर था। कुछ समय पंछियों के साथ बिताने के बाद हम सांप को देखने गये, वहाँ अलग – अलग प्रजाति के सांप को अलग-अलग पिंजरों में रखा गया था। कई अन्य पिंजरों में शेर, बाघ, ज़ेबरा, लोमड़ी, भेड़िया और भालू रखा गया था। वहाँ पर एक शेर सो रहा था और शेरनी अपने | शावकों के साथ खेल रही थी। शेरनी के बच्चे बहुत प्यारे थे, शेरनी के बच्चे खुले मैदान में इधर उधर कूद रहे थे और उसकी माँ बच्चों को अपने जबड़े में पकड़कर अपने पास ले आतीं थी।

हमनें चिड़ियाघर में लगभग चार घंटे बिताए। हमने इस चिड़ियाघर में बहुत सारी यादगार तस्वीर ली और हम सभी दोस्तों ने वहाँ बहुत मज़ा किया। यँह मेरे जीवन की वास्तव में सबसे अच्छी यात्रा थी। फिर हमें सभी दोस्त रात में अपने – अपने घर वापस आ गये। हम सभी दोस्त इस चिड़ियाघर में बिताए गए अच्छे पल को कभी भूल नहीं पाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *