चलती का नाम गाड़ी पर निबंध – Essay on Chalti Ka Naam Gaadi in Hindi

Write an essay on Chalti Ka Naam Gaadi in Hindi – चलती का नाम गाड़ी पर निबंध| Now more details on chalti ka naam gaadi.

Essay on Chalti Ka Naam Gaadi in Hindi
चलती का नाम गाड़ी पर निबंध

Essay on Chalti Ka Naam Gaadi in Hindi

विचार-बिंदु – • गाड़ी अर्थात् चलना • मानव-जीवन में भी गति आवश्यक • नए-नए कर्म और लक्ष्य • लक्ष्य-पथ पर चलने वाला कर्मवीर प्रसन्न, संतुष्ट और आनंदित • ग्लानिरहित जीवन • गतिहीन जीवन में दुर्गंध • संदेश – कर्म में आनंद प्राप्त करो।

गाड़ी का स्वभाव है चलना। चलने के गुण के कारण ही गाड़ी ‘गाड़ी’ कहलाती है। इसका संकेत-अर्थ यह है कि जिस व्यक्ति के जीवन में गति और हलचल होती है, उसी का जीवन सफल होता है। गति और हलचल का अर्थ है – नए-नए कर्म और लक्ष्य। लक्ष्य के अनुसार कर्म करते रहना सफल जीवन की निशानी है। ऐसा कर्मवीर व्यक्ति प्रसन्न, संतुष्ट और आनंदित रहता है।

उसे सदा इस बात की खुशी रहती है कि उसने अपनी इच्छा, शक्ति और योग्यता के अनुसार कार्य किया। समय को व्यर्थ नहीं आँवाया। इसी से जीवन स्वस्थ बना रहता है। जैसे रुका हुआ जल दुर्गंधमय हो जाता है। इसी प्रकार गतिहीन जीवन भी शिथिल, जड़ और स्वादहीन होता है। अतः जीवन का स्वाभाविक स्वाद पाने के लिए चलते रहो, कर्म करते रहो। जड़ मत बनो। परंतु यह भी सोचो कि क्या हर प्रकार का चलना सार्थक है? नहीं। चलना वही, जो जीवन को सुपथ पर आगे बढ़ाए। इसके लिए आवश्यक है – निष्काम कर्म।

समय को व्यर्थ नहीं आँवाया। इसी से जीवन स्वस्थ बना रहता है। जैसे रुका हुआ जल दुर्गंधमय हो जाता है। इसी प्रकार गतिहीन जीवन भी शिथिल, जड़ और स्वादहीन होता है। अतः जीवन का स्वाभाविक स्वाद पाने के लिए चलते रहो, कर्म करते रहो। जड़ मत बनो। परंतु यह भी सोचो कि क्या हर प्रकार का चलना सार्थक है? नहीं। चलना वही, जो जीवन को सुपथ पर आगे बढ़ाए। इसके लिए आवश्यक है – निष्काम कर्म।

Thank you for reading. Don’t forget to write your review.

अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे।

Share this :

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *