कंप्यूटर पर निबंध | Essay on Computer in Hindi

Let’s talk about computer in Hindi कंप्यूटर पर निबंध – Essay on Computer in Hindi. Hello, guys today we will discuss about short paragraph on computer in Hindi or essay on computer in Hindi. Computer ka mahatva/ importance of computer in Hindi language will help you computer education in Hindi. How to write computer in hindi is our basic focus and you give you computer information in Hindi. Essay on computer in Hindi for class 5 was asked in many competitive exams. Read an essay on computer in Hindi/ computer par nibandh to get better results in your exams.

Essay on Computer in Hindi – कंप्यूटर पर निबंध

essay on computer in hindi
Essay on Importance of Computer in Hindi

Essay on Computer in Hindi 200 Words

जीवन में कंप्यूटर की उपयोगिता – विचार – बिंदु – • कंप्यूटर-युग • गणनाओं में सुविधा • रेल-सेवाओं में आसानी • मुद्रण में क्रांति • संचार-क्रांति में सहायक • रक्षा-उपकरणों में उपयोगिता • स्वास्थ्य-सेवा में सहयोग • कंप्यूटर की हानियाँ।

आज हम कंप्यूटर-युग में जी रहे हैं। कंप्यूटर के पास ऐसा मशीनी मस्तिष्क है जो लाखों, करोड़ों गणनाएँ पलक झपकते ही कर देता है। ये गणनाएँ निर्दोष और साफ-सुथरी होती हैं। आप रेलवे बुकिंग-केंद्र पर जाएँ। अब कंप्यूटर की कृपा से आप देश की किसी भी कंप्यूटरीकृत खिड़की से कहीं से कहीं की टिकट बुक करा सकते हैं। पूरा देश कंप्यूटर द्वारा जुड़ गया है। मुद्रण क्षेत्र में आएँ। मुद्रण इतना कलात्मक, साफ-सुथरा और वैविध्य-भरा हो गया है कि पुरानी मशीनें अब बाबा आदम के जमाने की लगती हैं। संचार-क्षेत्र में कंप्यूटर ने क्रांति उपस्थित कर दी है।

टेलीफोन, फैक्स, पेजिग, मोबाइल के बाद इंटरनेट ने मानो सारा संसार आपके ड्राईंग रूम में कैद कर दिया है। रक्षा के उन्नत उपकरणों में, हवाई-यात्राओं में कंप्यूटर-प्रणाली अत्यंत उपयोगी सिद्ध हुई है। भारत ने परमाणु-विस्फोट अत्यंत उन्नत कंप्यूटर प्रणाली से किया। स्वास्थ्य के क्षेत्र में कंप्यूटर ने अद्भुत सेवाएँ प्रदान की हैं। बीमारी की जाँच करने, संपूर्ण स्वास्थ्य परीक्षण करने, हृदय-गति मापने आदि में उसकी महत्त्वपूर्ण भूमिका है। आज सॉफ्टवेयर उद्योग में भारत विश्व के अग्रणी देशों में गिना जाता है।

Essay on Computer in Hindi 250 Words

कम्प्यूटर एक ऐसा उपकरण है। जिसने हमारे जीवन को आसान बना दिया है। यह एक समय में कई काम कर सकता है। कम्प्यूटर के कारण हमारा पूरा काम आसान हो गया है। हम हार्डवेयर, सॉफटवेयर, कीबोर्ड और माउस की मदद से कम्प्यूटर चला सकते है। कम्प्यूटर में एक सी0पी0यू0 होता है जिसे सेन्ट्रल प्रोसेसिंग यूनिट कहा जाता है। सी0पी0यू0 को कम्प्यूटर का मस्तिष्क भी कहा जाता है। कम्प्यूटर में रैम होती है जो कम्प्यूटर को तेजी से चलाने में मदद करती है।

रैम को रेन्डम एक्सेस मेमोरी भी कहा जाता है। डाटा जो हम कीबोर्ड की मदद से कम्प्यूटर में डालते है उसे इनपुट डाटा कहा जाता है और जब हम प्रिंटर की मदद से प्रिंट आउट लेते है तो वह आउटपुट डेटा कहा जाता है। कम्प्यूटर में एक यू.एस.बी. पोर्ट भी होता है, हम इसमें यू.एस.बी. पेन ड्राईव डाल सकते है और यू.एस.बी. ड्राइव में अपना डेटा स्टोर कर सकते है। कम्प्यूटर में हार्ड डिस्क होती है जहाँ पर हम अपना डेटा स्टोर कर सकते है। कम्प्यूटर में एक सी.डी. रोम भी होता है जो संगीत और वीडयो चलाता है।

हम कम्प्यूटर पर गेम भी खेल सकते है और इंटरनेट की मदद से कम्प्यूटर में वीडियो कॉलिंग भी कर सकते है। हम इंटरनेट का उपयोग कर दुनिया में कही भी अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से बात कर सकते है और उन्हें देख सकते है। हम अपने आफिस और स्कूल का काम घर पर कम्प्यूटर की मदद से कर सकते है। हम इंटरनेट का उपयोग करके अपने घर का बिजली और पानी का बिल भी दे सकते है।

Essay on Computer in Hindi 300 Words

essay on computer in hindi

कंप्यूटर पर निबंध

कंप्यूटर एक ऐसी आदुनिक मशीन है जिसके अविष्कार कि वजह से दुनिआ मे क्रांति आ गयी। कंप्यूटर के अविष्कार ने सभी के सपनो को साकार करके विज्ञान और तकनीकी कि दुनिया मे अवल्ल स्थान प्राप्त किया है। आजकल के दौर मे हम कंप्यूटर के बिना जीवन कि कल्पना कर ही नहीं सकते, यह एक ऐसा डिवाइस है जो हमारे लिए बहुत ही लाभदायक है।

कंप्यूटर डिवाइस को चलने के लिए हमे सीपीयू, यूपीएस, कीबोर्ड, और माउस कि जरूरत पड़ती है। सभी को सीपीयू के साथ जोड़ कर इसे इस्तेमाल किया जाता है। लैपटॉप कंप्यूटर कि तरह ही होता है परन्तु लैपटॉप मे हमे हमे सीपीयू, यूपीएस, कीबोर्ड, और माउस कि जरूरत नहीं पड़ती क्योकि यह लैपटॉप मे पहले से ही मौजूद होते है। कंप्यूटर का इस्तेमाल कई सारे उदेश्यो के लिए किया जाता है जैसे कि सूचनाओ को सुरक्षित रखना, ई-मेल, मैसेजिंग, सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग, गणना, डेटा प्रौसेसिंग आदि।

21 वीं सदी से पहले कंप्यूटर का इस्तेमाल सीमित जगहों पर ही किया जाता था जैसे कि फ़ौज और हस्पतालो मे, परन्तु आजकल कंप्यूटर हर किसी के घर मे अपनी जगह बना चूका है। कंप्यूटर का शिक्षा, वैज्ञानिक, व्यवसाय, प्रकाशन, मनोरंजन, सरकारी-गैर सरकारी क्षेत्रों मे बोल बाला है जिसकी वजह से इसका इस्तेमाल परीक्षा, मौसम की भविष्यवाणी, शिक्षा, खरीदारी, ट्रैफिक नियंत्रण, उच्च स्तर की प्रोग्रामिंग, रेलवे टिकट बुकिंग, मेडिकल क्षेत्र, व्यापार आदि मे किया जाता है। पहले यह मशीन पर्सनल कम्प्यूटर्स के रूप मे हमारे घर मे आई और आज कंप्यूटर हमारी जिंदगी का एक एहम हिस्सा बन चूका है।

नई पढ़ी के कंप्यूटर विज्ञान और तकनीकी के कारन पहले से और भी छोटे, हल्के, तेज, और बहुत शक्तिशाली है। कंप्यूटर जटिल से जटिल काम पलक झपकते ही पूरा कर देता है। आज का समय कंप्यूटर का ही समय है, जिसका जादू सभी के सिर बढ़-चढ़ कर बोल रहा है।

Essay on Computer in Hindi 600 Words

आज सर्वत्र कम्प्यूटर की चर्चा है। समाचार पत्र, दूरदर्शन, रेडियो आदि सभी इसके प्रचार-पसार में अग्रसर हैं। निर्विवाद रूप से कंप्यूटर आधुनिक विज्ञान की सबसे बड़ी देन है। ज्यों-ज्यों विविध क्षेत्रों में विज्ञान का प्रसार हो रहा है, कंप्यूटर की उपयोगिता, उसकी व्यापकता, लोकप्रियता और आवश्यकता हमारे समस्त सामाजिक-व्यापारिक जीवन में बढ़ती जा रही है।

कंप्यूटर विज्ञान ने आज साधारण से साधारण और उच्च से उच्च व्यक्ति तथा वर्ग को इतना प्रभावित किया है कि प्रत्येक के मन में उसके बारे में जानने या उसे सीखने की इच्छा पैदा हो गई है। परिणामस्वरूप देश के सभी छोटे-बड़े शहरों में हर स्तर पर कंप्यूटर-प्रशिक्षण के संस्थान खुल गए हैं। स्कूलों के पाठ्यक्रम में कंप्यूटर कोर्स को विशेष स्थान मिल रहा है। समाचार-पत्रों और रोजगार समाचारों में कंप्यूटर प्रशिक्षितों के लिए रिक्त स्थान के विज्ञापन भरे रहते हैं। इस बढ़ती आवश्यकता को पूरा करने के लिए छोटे बड़े सभी स्तर के कंप्यूटरों का निर्माण भारत में हो रहा है।

कंप्यूटर क्या है ? वस्तुत: कंप्यूटर ऐसे यांत्रिक मस्तिष्कों का रूपात्मक और समन्वयात्मक योग है, जो तीव्र गति से कम से कम समय में अधिक से अधिक काम कर सकता है। गणना के क्षेत्र में इसका विशेष महत्त्व है। विज्ञान ने अनेक गणक यंत्रों का आविष्कार किया है, किंतु कंप्यूटर की तुलना किसी से भी संभव नहीं है। चार्ल्स बेवेज पहले व्यक्ति थे जिन्होंने गणित की गणना को सुनकर करने वाला यह यंत्र बनाया। कंप्यूटर मनुष्य का ऐसा आज्ञाकारी सेवक है कि इसे मनुष्य जितना और जैसा काम करने को कहता है, वह उसे उतना ही सही रूप में करता है।

आज कंप्यूटर की उपयोगिता सर्वत्र व्याप्त है। कल-कारखानों, व्यापारिक संस्थानों, उत्पादन केंद्रों, रेलवे-स्टेशनों, हवाई अड्डों से लेकर शैक्षिक संस्थाओं और चिकित्सा केंद्रों में कंप्यूटर ने अपनी उपयोगिता की धाक जमा ली है। बैंकों के खातों के संचालन से लेकर समाचार-पत्रों तथा पुस्तकों के प्रकाशन में भी कंप्यूटर विशेष भूमिका का निर्वाह कर रहा है।
कंप्यूटर संचार का भी एक महत्त्वपूर्ण साधन है। कंप्यूटर नेटवर्क (इंटरनेट) ने विश्व के समस्त देशों को आपस में जोड़ दिया है। आज घर बैठे ही विश्व के किसी भी कोने में बैठे व्यक्ति से बात करना या संदेश भेजना कंप्यूटर के कारण ही संभव हुआ है। अंतरिक्ष विज्ञान और मौसम विज्ञान में भी कंप्यूटर की अहम भूमिका है। अंतरिक्ष के व्यापक चित्र लेने तथा उनका विश्लेषण करने का काय कंप्यूटर ही करता है।

फ़ाइलिंग की समस्या बैंक प्रणाली का सिरदर्द रही है, किंतु आज कंप्यूटर ने इस सिरदर्दी को दूर कर दिया है। फ़ाइलिंग का स्थान कंप्यूटर फ्लॉपी ने ले लिया है। एक अलमारी में यदि सौ फ़ाइलें आती हैं तो इतने ही स्थान में एक सहस्त्र फ्लॉपी रखी जा सकती हैं।
भवन-निर्माण, क्षेत्र विकास, परिसर-नियोजन आदि इन सबके लिए चाहिए एक शिल्पकार और शिल्पकार को चाहिए पर्याप्त समय। कंप्यूटर का डिजाइनिंग प्रोग्राम क्षेत्र की लंबाई, चौड़ाई और आँकड़ों के अनुसार कुछ ही घंटों में नक्शा तैयार कर देता है। इतना ही नहीं, नवीन मौलिक डिजाइन की उद्भावना में तो कंप्यूटर एक कलाकार की भूमिका निभाता है।
चिकित्सा क्षेत्र में कंप्यूटर जीवन-रक्षक कवच बनकर अवतरित हुआ है। शरीर में रासायनिक परिवर्तन, स्नायुओं की गतिविधि, रोगों का निदान और औषधियों का विधान, शल्यक्रिया और अंगरोपणों का निरीक्षण सब कंप्यूटर की ज़िम्मेदारी है। कंप्यूटर को रॉबोट जैसी मशीन से जोड़कर कई श्रम साध्य कार्य भी कराए जा सकते हैं, जैसे वैल्डिंग, पेंटिंग, कचरा साफ़ करना, परमाणु भट्टी के पास काम करना, भारी सामान को सँभालना आदि। युद्ध-क्षेत्र में छोटे-छोटे कंप्यूटर बड़ी कुशलता से जासूसी का कार्य कर रहे हैं।

हाल के वर्षों में कम्प्यूटर का बड़ी तेजी से विकास हुआ है। कम्प्यूटर में मानव मस्तिष्क के कई गुण हैं। यह मानव द्वारा संचालित एक अद्भुत आविष्कार है। अब यह प्रयत्न किए जा रहे हैं कि कम्प्यूटर में मानव मस्तिष्क और स्वभाव के अधिक से अधिक गुणों को समाहित किया जाए।

यह कहना गलत नहीं होगा कि कंप्यूटर आज के युग की अनिवार्यता है। फिर भी कंप्यूटर केवल एक यंत्र है, जिसके निर्माण के पीछे मानव मस्तिष्क ही कार्य करता है।

Computerization in India/ भारत में कंप्यूटरीकरण

विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में मनुष्य ने पिछले कुछ वर्षों में अनेक सफलताएं प्राप्त की हैं। आज इन्हीं आविष्कारों के फलस्वरूप मनुष्य अपनी अनेक कल्पनाओं को साकार करने में समर्थ हो सका है। मनुष्य हमेशा कुछ नया प्राप्त करने की चेष्टा करता आया है जो उसे अधिक आराम व सुख-सुविधा प्रदान कर सके। इस चेष्टा में समय के साथ वह सफलताओं के नए आयाम स्थापित करता आया है। कंप्यूटर की खोज इसी कड़ी की एक सबसे महत्त्वपूर्ण खोज समझी जा सकती है जिसने सम्पूर्ण विश्व की कायापलट कर दी है।

वैसे तो सन् 1854 ई। में ‘जार्ज बूले’ ने ‘लेज़िक’ की खोज कर ली थी जो कि आधुनिक कंप्यूटर का आधार है। परन्तु सर्वप्रथम व्यावसायिक कंप्यूटर का प्रयोग 1951 ई। में किया गया जब अमेरिका की एक व्यावसायिक कंपनी रेमिंगटन ने सर्वप्रथम अपना कंप्यूटर एनिएक के नाम से निकाला। इसके बाद ‘ट्रांजिस्टर’ तथा ‘इंटिग्रेटेड सर्किट’ की खोज के बाद तो इस क्षेत्र में क्रांति आ गई। विश्व के सभी देश प्रमुखतः जो विकसित हैं उनमें कोई भी
ऐसा क्षेत्र नहीं बचा होगा जो कंप्यूटर के प्रयोग से अछूता हो।

भारत में कंप्यूटर का प्रचलन प्रधानमंत्री स्व। राजीव गाँधी के प्रयासों से शुरू हुआ। 90 के दशक में प्रवेश के पश्चात् कंप्यूटर ने आज लगभग सभी क्षेत्रों में अपना स्थान बना लिया है। चाहे वह शिक्षा का क्षेत्र हो या फिर रेल सेवाओं का, मौसम की जानकारी प्राप्त करनी हो अथवा चिकित्सा परीक्षण, सभी क्षेत्रों में कंप्यूटर एक हिस्सा बन गया है। कंप्यूटर आज विलासिता अथवा सम्मान का ही नहीं अपितु धीरे-धीरे एक आवश्यकता बनता जा रहा है।

भारत में कंप्यूटरीकरण तीव्र प्रगति पर है। देश की सभी प्रमुख सेवाओं का कंप्यूटरीकरण किया जा रहा है। विभिन्न कार्यों को पूरा करने के लिए हमारे पास आज कंप्यूटर उपलब्ध हैं। कंप्यूटर द्वारा आज देश भर में रेल तथा हवाई सेवाओं में आरक्षण हो रहा है। इसके द्वारा राडार तथा मिसाइल बनाए जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त बैंकिग तथा बीमा आदि सेवाओं को पूरी तरह कंप्यूटर से जोड़ा जा रहा है। इसके अतिरिक्त मौसम की जानकारी, अंतरिक्ष में होने वाले परिवर्तनों का अध्ययन, नाभिकीय कार्यक्रमों का विस्तार, ‘डाटा प्रोसेसिंग’ और तथ्यों को एकत्र कर उन्हें भविष्य में रचनात्मक कार्यों के लिए प्रयोग आदि में कंप्यूटर का विशेष रूप से प्रयोग हो रहा है।

हमारे देश ने कम्प्यूटर के क्षेत्र में पिछले कुछ दशकों में जो सफलताएं प्राप्त की हैं उसका आज सम्पूर्ण विश्व लोहा मानता है। आज हमारे कम्प्यूटर विशेषज्ञों की मांग विश्व भर में सबसे अधिक है। आज कम्प्यूटर उद्योग में अन्य क्षेत्रों की तुलना में विशेष रूप से प्रगति हो रही है। हमारे पास ऐसे ‘सुपर कम्प्यूटर’ उपलब्ध हैं जो विश्व के गिने-चुने देशों के पास ही हैं।

यातायात के क्षेत्र में भी कम्प्यूटर की विशेष उपयोगिता है। हवाई मार्गों का निर्धारण एवं नियंत्रण, महानगरों की ‘रेड लाइट सिग्नल’ प्रणाली आदि कम्प्यूटर की ही देन है। इसके अतिरिक्त अंतरिक्ष अनुसंधान, मौसम संबंधी जानकारी, मुद्रण आदि में कम्प्यूटर का विशेष योगदान है।

इस प्रकार हम देखते हैं कि आधुनिक युग में कम्प्यूटर मनुष्य के जीवन के हर क्षेत्र से प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से जुड़ा हुआ है। विज्ञान के इस अदभुत उपहार को नकारना संभव नहीं है। यह आज की आवश्यकता है। शुरू-शुरू में अवश्य ही यह एक विशिष्ट जनसमूह तक सीमित था परन्तु सरकार के सकारात्मक रुख के कारण यह धीरे-धीरे विस्तार ले रहा है।

परिणामस्वरूप यह हजारों मध्यवर्गीय लोगों की जरूरत बन गया है। हमारे देश में जहां बेरोजगारी व आर्थिक संकट के घने बादल हैं, ऐसे वातावरण में निस्संदेह कम्प्यूटर का विस्तार समय लेगा। परन्तु जिस प्रकार इसकी आवश्यकता बढ़ रही है अथवा जिस तेज गति से कम्प्यूटरीकरण हो रहा है। उसे देखते हुए यह अनुमान लगाया जा सकता है कि बहुत जल्दी ही यह दूरदर्शन की भांति सभी घरों में अपना स्थान बना लेगा।

देश में कम्प्यूटर को जन-जन तक पहुंचाने के अपने लक्ष्य की ओर सरकार बड़ी ही तेज गति से कार्य कर रही है। आज देश के सभी विद्यालयों में धीरे-धीरे कम्प्यूटर की शिक्षा दी जा रही है। सरकार ने देश के सभी विद्यालयों में कम्प्यूटर उपलब्ध कराने हेतु बहुत बड़ी राशि राज्य सरकारों को दी है। इसके अतिरिक्त आज छोटे-बड़े, सरकारी तथा गैर सरकारी सभी कार्यालयों में कार्य कम्प्यूटर के द्वारा किया जा रहा है।

नि:संदेह हमारे देश में कम्प्यूटर का भविष्य बहुत उज्जवल है। देश में प्रतिवर्ष बढ़ती हुई कम्प्यूटर स्नातकों और विशेषज्ञों की संख्या तथा विदेशों में हमारे विशेषज्ञों की प्रबल मांग इसका साक्षात प्रमाण है। भारत का संपूर्ण साफ्टवेयर उद्योग कंप्यूटर के बलबूते ही चमक रहा है। इस क्षेत्र में रोजगार की अपार संभावनाएं हैं, अत: भारत में कंप्यूटरीकरण और भी जरूरी हो गया है।

Learn and write Hindi essay in Hindi langauge. Send us your feedback essay on computer in Hindi? Now you can give rating to an essay on computer in Hindi through comment box.

Thank you reading. Don’t for get to give us your feedback.

अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे।

Share this :

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *