समय का महत्व – Essay on Importance of Time in Hindi

We have written an essay on Importance of Time in Hindi समय का महत्व। Students today we are going to discuss very important topic i.e essay on importance of time in Hindi. Importance of time essay in Hindi is asked in many exams. The long essay on importance of time in Hindi is defined in more than 350 words. Learn an essay on importance of time in Hindi and bring better results.

Essay on Importance of Time in Hindi
Essay on Importance of Time in Hindi – समय का महत्व

समय का महत्व – Essay on Importance of Time in Hindi 200 Words

(समय बहुमूल्य है) विचार-बिंदु – • बीता समय लौटकर नहीं आतासफलता के लिए ठीक समय का चुनाव अपेक्षितएकएक क्षण का उपयोग सफलता की कुंजीसमय का सदुपयोग करने वाले कुछ सफल लोगउपसंहार (काल्ह करै सो आज कर सूक्ति से) अथवा अन्य किसी उपयुक्त ढंग से।

समय बहता प्रवाह है। जैसे बहता जल लौटकर नहीं आता, वैसे ही बीता समय कभी लौटकर नहीं आता। अतः समय बहुत मूल्यवान है। उसका सदुपयोग यही है कि प्रत्येक कार्य निश्चित समय पर कर दिया जाए। उचित घड़ी बीत जाने पर किया गया कार्य निष्फल होता है। उचित समय की अग्रिम प्रतीक्षा करनी पड़ती है। उसकी अगवानी करके उसका आशीर्वाद लिया जा सकता है। उसे अपनी उपेक्षा सहन नहीं है। यदि सारी रेलगाड़ियाँ समय पर छूटें और समय से पहुँचें; सारे उत्सवत्योहार ठीक समय पर प्रारंभ होकर ठीक समय पर समाप्त हों और सभी कार्य निश्चित समय पर हों, तो सभी मनुष्यों का समय बच सकता है। ऐसा होने पर मनुष्य एक दिन में पहले से दुगुने काम कर सकता है। गाँधी जी समय के पाबंद थे। वे कभी सभाओं में देर से नहीं पहुँचते थे। ईश्वरचंद्र विद्यासागर के अनेक ऐसे किस्से प्रसिद्ध हैं, जबकि उन्होंने समय से पहुँचकर शेष लोगों को समय का सम्मान करना सिखाया। रहीम ने कहा है

काल्ह करे सो आज कर, आज करे सो अब।
पल में परलै होएगी, बहुरि करेगा कब॥

Essay on Importance of Time in Hindi 250 Words

समय निरन्तर चलता रहता है। संसार के काम भले ही रूक जाए लेकिन समय की गति सदा एक जैसी रहती है। संसार की कोई भी शक्ति इसे रोकने में असमर्थ है। जो समय के अनुसार चलता है, वही जीवन में सफल होता है। जैसे आंधी आती है तो बडे बडे पेड़ अकड़ कर खड़े होते है, इसलिए वह उखड़ जाते है। परन्तु घास अपने आप को समयानुसार बदल लेती है। वह आंधी के झोको के साथ झुक जाती है। इसलिए वह उखड़ नही पाती। इसी प्रकार जो समय देखकर चलता है, वह अपना आस्तिव बनाए रखता है। एक बार जो समय चला जाये वह फिर नहीं लौटता। नदियों का जल, मनुष्यों की जवानी तथा समय एक बार बीतने पर नही लौटते।

समय के साम्राज्य में राजा, रंक, सब बराबर है। समय न तो राजा के लिए रोकता है और न ही रंक के लिए, उसके सामने बड़ा छोटा कोई नही होता। प्रायः आलसी व्यक्ति कहा करते है, कि समय नहीं मिलता। वास्तव में वे समय का सदुपयोग नहीं करना चाहते। समय का अभाव तो एक
बहाना होता है। बहुत से लोग सिनेमाघरों में, पार्को में कितना समय बरबाद कर देते है, फिर भी हम यही कहते है कि समय नहीं मिलता। समय एक ऐसी चीज तो है नहीं कि पुड़िया में बांध कर रख दिया जाए, और जरूरत पड़ने पर निकाल लिया जाए। समय तो पारसमणि है। जिसे छूकर न जाने कितने लोग महान पुरूष बन गये तथा जिसे खोकर न जाने कितने लोग समुद्र में निमग्न हो गए। हमें समय का सदुपयोग करने का प्रयत्न करना चाहिए।

Essay on Importance of Time in Hindi 300 Words

हम सभी जानते हैं की समय बहूत कीमती है और हर किसी के लिए समय अमूल्य है, इसलिए हमें कभी समय बर्बाद नहीं करना चाहिए। समय सफलता की कुंजी है। समय इस दुनिया में सबसे मूल्यवान चीज है। यह खो जाने के बाद, यह हमेशा के लिए खो जाता है और कभी भी वापस नहीं आता। हमारी जीवन की सफलता या विफलता समय पर किये गए कार्य पर निर्भर करता है। इसलिए हर व्यक्ति को अपने समय का सही उपयोग करना चाहिए। जो व्यक्ति समय को बर्बाद करता है, वह खुद अपने जीवन को अपने हाथों बर्बाद कर देता है। जो लोग समय का अच्छी तरह से सदुपयोग करते है वह लोग आगे की जीवन में काफी सफल होते है।

समय बहुत कीमती है। कई छात्र बड़े- बड़े प्रतियोगिता में काफी अच्छी सफलता पाते हैं। एक छात्र जो अपने समय का अच्छा इस्तेमाल करता है, उसे परीक्षा उत्तीर्ण होने में कोई दिक्कत नहीं होती है। इसलिए हम सभी लोगो को समय की महत्व समझते हुए इसके एक एक पल का अच्छी तरह उपयोग करना चाहिए। हम जितना ज्यादा समय का अच्छी तरह उपयोग करेंगे, हमें उतना ही अच्छा फल मिलेगा। वह लोग जो समय का सही सदुपयोग नहीं करते वह पिछङ जाते हैं। समय है तो जीवन है, अगर समय नहीं है तो जीवन भी नहीं है। समय को दुबारा उपयोग नहीं किया जा सकता है, और न तो खोए गए समय को वापस पाया जा सकता है। इसलिए कहा गया है : “पुरुष बली नहि होत है,समय होत बलवान” अर्थात, व्यक्ति बलवान नहीं होता है, समय बलवान होता है। अतः हम सभी को समय का सम्मान करना चाहिए।

विद्वानों का कहना है कि हर कार्य को हमें समय पर कर लेना चाहिए। हिन्दी साहित्य के महान संत कबीर दास जी का कहना है :”कल करै सो आज कर, आज करे सो अब। पल में परलय होयगा, बहुरि करेगा कब||” | अर्थात् – कल के सारे काम आज कर लो, और आज के अभी करो, क्योंकि समय का कोई भरोसा नहीं, पता नहीं कब प्रलय हो जाये। इसलिये शुभ काम को कल पर मत छोड़ो, उस काम को उसी समय कर डालो।

Essay on Importance of Time in Hindi 350 Words

जीवन नदी के समान है। जैसे नदी की धारा ऊँची नीची भूमि को पार करती निरंतर आगे बढ़ती रहती है, उसी प्रकार जीवनधारा भी सुख-दुख, सफलता असफलता, हानि-लाभ के अनेक संघर्षों को सहते हुए आगे बढती रहती है। समय निरंतर गतिशील है। समय चक्र के समान घूमता रहता है। समय किसी की प्रतीक्षा नहीं करता। भूत, वर्तमान और भविष्य में परिवर्तित होता समय किसी की प्रतीक्षा नहीं करता।

समय का सदुपयोग यही है कि प्रत्येक कार्य निश्चित समय पर किया जाए। जीवन को सुखी बनाने के लिए प्रत्येक काम को ठीक समय पर ही करना चाहिए। ठीक समय पर काम करने से काम तो पूरा हो ही जाता है, सुख और आनंद भी प्राप्त होता है।

सूरज रोज सवेरे समय पर ही निकलता है और संध्या होने पर समय से ही डूब जाता है। वह निकलने और डूबने में कभी गलती नहीं करता। हमें समय-पालन की शिक्षा सूरज से लेनी चाहिए। विद्यार्थी जीवन में समय का अत्यधिक महत्त्व है। समय का सदुपयोग करने वाला विद्यार्थी भावी जीवन में सफल होता है। तथा उन्नति के पथ पर निरंतर अग्रसर रहता है। इसके विपरीत व्यर्थ की बातों में समय आँवाने वाली छात्र असफलता का मुँह देखता है समय का पालन केवल कर्मठ तथा उद्यमी व्यक्ति ही कर सकता है। यदि समय का पालन नहीं किया गया तो जीवन की दौड़ में पीछे रह जाएँगे। जो समय पर काम करता है, उसे कोई तनाव नहीं होता। समयपालन से मनुष्य धनवान, बुद्धिमान तथा शक्तिमान बन सकता है। समय बहूमूल्य है। यदि समय बीत गया तो लौटाया नहीं जा सकता, न ही उसे खरीदा जा सकता है। समय निरंतर गतिशील है – जो बीत गया सो बीत गया। समय पर किए गए कार्य का आनंद दुगना होता है।

फूल समय पर खिलते हैं। फल समय पर लगते हैं। पानी समय पर बरसता है। मौसम समय पर आते-जाते हैं। जब तक समय पर काम होता रहता है, मानव को सुख मिलता है। जब काम समय पर नहीं होते मानव दुखी और परेशान रहता है। जिस प्रकार सोने का प्रत्येक धागा बहुमूल्य है उसी प्रकार समय का प्रत्येक क्षण अमूल्य है।

More Essay in Hindi

Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi

Essay on Democracy in Hindi

Thank you for reading. Don’t forget to give us your feedback.

अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे।

Share this :

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *