National Integration and Unity Hindi Essay राष्ट्रीय एकीकरण पर निबंध

Check out National Integration and unity Hindi essay. What National Integration and Unity? Today we are going to explain how to write National Integration and unity in Hindi on National Integration Day. Now you can take useful examples to write in a better way. Essay on National Integration and unity Hindi essay is asked in most exams nowadays starting from 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 and 12. राष्ट्रीय एकीकरण पर निबंध।

hindiinhindi National Integration and Unity Hindi Essay

National Integration and Unity Hindi Essay 200 Words

राष्ट्रीय एकता पर निबंध

विचार – बिंदु – • एकता में बल • राष्ट्र के लिए ‘एकता’ आवश्यक • एकता के बाधक तत्त्व • एकता तोड़ने के दोषी • एकता के तत्त्व • एकता दृढ़ करने के उपाय।

एकता में बल है। किसी भी राष्ट्र के लिए एकता का होना अत्यंत आवश्यक है। भारत जैसे विविधताओं भरे देश में तो राष्ट्रीय एकता सीमेंट का काम कर सकती है। भारत में धर्म, भाषा, प्रांत, रंग, रूप, खान-पान, रहन-सहन, आचार-विचार की इतनी विविधता है कि इसमें राष्ट्रीय एकता होना कठिन काम है। कहीं हिंदी-अहिंदी प्रदेश का झगड़ा है। कहीं उत्तर-दक्षिण का भेद है। कहीं मंदिर-मसजिद का विवाद है। राजनीतिक नेता अपना वोट बैंक बनाने के लिए किसी को जाति के नाम पर तोड़ते हैं, किसी को धर्म, भाषा, प्रांत, पिछड़ा-अंगड़ा, सवर्ण-अवर्ण के नाम पर। यह स्थिति शोचनीय है।

भारत के लिए सबसे सुखद बात यह है कि यहाँ एकता बनाए रखने वाले तत्वों की कमी नहीं है। संविधान और जन्मभूमि के नाम पर समूचा भारत एक है। भावात्मक एकता की दृष्टि से समूचा हिंदुस्तान एक है। राष्ट्रीय एकता को अधिक दृढ़ करने के लिए आवश्यक है कि सारे देश में एक ही कानून हो। अंतरजातीय विवाहों को प्रोत्साहन दिया जाए। सरकारी नौकरियों में अधिक-से-अधिक दूसरे प्रांतों में स्थानांतरण हो ताकि समूचा देश सबका साझा बन सके। कलाकारों और साहित्यकारों को एकता-वर्द्धक साहित्य लिखना चाहिए।

National Integration and Unity Hindi Essay 300 Words

राष्ट्रीय एकता एक मनोवैज्ञानिक प्रक्रिया है जिसमे किसी राष्ट्र के लोगों में भाई-चारा अथवा राष्ट्र के प्रति प्रेम हो। भारत में आज अनोखी संस्कृति और विविध जीवनशैली को मानने वाले बहुत सारे विरोधी लोग रहते हैं, इसी लिए हमे आज अपने जीवन में राष्ट्रीय एकीकरण के अर्थ को समझने की और समझने की बहुत आवश्यकता है क्योकि राष्ट्रीय एकता राष्ट्र को सशक्त बनता है। हम सबको अपने भारत देश के बेहतरीन भविष्य और राष्ट्रीय एकीकरण के लिए एक जुट होकर सबकुछ मानना होगा। हमारे राष्ट्र भारत में विभिन्न धर्म, जाति, समुदाय, नस्ल और सांस्कृतिक समूह के लोग प्यार से एक-साथ रहते आ रहे है, जो दुनिया भर के देशो के लिए मिसाल है। विभिन्न जाति-पात से उठकर भारत की सांस्कृतिक विरासत विश्व में प्रशिद्ध है किन्तु हमेशा से ही राजनीतिक एकता में कमी देखि आ रही है।

भारत में सिर्फ एक बार ही राजनीतिक एकता देखी गयी थी संन 1947 में, जब सभी ने मिलकर अंग्रेजों को भारत छोड़ने पर मजबूर किया गया था। अंग्रेजो ने हमारे विभिन्न धर्म, जाति, समुदाय, नस्ल में मतभेद पैदा किये, बाँटो और राज करो की नीति अपनायी, हालाँकि अंग्रेज बाद में असफल हो गए थे और इसके पीछे एक ही कारन था – भारत के नागरिको की राष्ट्रीय एकीकरण। आज़ादी के बाद भारत में राष्ट्रीय एकीकरण को बढ़ावा दिया जाता आ रहा है जैसे सांस्कृतिक एकता, संविधान, कला, साहित्य, राष्ट्रीय ध्वज़, राष्ट्र गान अदि।

एक मजबूत और समृद्ध राष्ट्र का निर्माण करने के लिए यह जरुरी है की हम सब एक होकर प्यार से रहे। हमें भारत में विविधता में एकता का वास्तविक मतलब समझना चाहिये। जनसंखया की बात करे तो भारत दुनिया में दूसरे स्थान पर है जहाँ विश्व के प्रमुख धर्म के लोग एक साथ रहते है। भारत में 1652 भाषाएँ बोली जाती हैं। सभी मतभेदों को भूलकर हमे शांति से एक साथ रहना चाहिए। राष्ट्रीय एकीकरण के उद्देश्य को पूरा करने के लिये सबकुछ विविधता है।

Other Hindi Essay

Unity is Strength Story in Hindi

Unity in Diversity Essay in Hindi

Apna Swasth Thik Hone Par Mitra ko Patra in Hindi

One Nation One Election Essay in Hindi

Responsibilities of Citizens at the Time of National Crisis in Hindi

 Thank you for reading. Don’t forget to give us your feedback.

अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *