Paryayvachi Shabd or Synonyms in Hindi पर्यायवाची शब्द

Paryayvachi Shabd (पर्यायवाची या समानार्थी शब्द). Now everyone of you can easily learn Paryayvachi Shabd. एक अर्थ को प्रकट करने वाले अनेक शब्दों को पर्यायवाची शब्द (Paryayvachi Shabd) या समानार्थी शब्द (Samanarthi Shabd) कहते हैं। प्रत्येक भाषा में ऐसे शब्द हुआ करते हैं। उदाहरणतया, हिंदी में जल को नीर, वारि, पानी भी कहते हैं।

hindiinhindi Paryayvachi Shabd

Paryayvachi Shabd

हिंदी में प्रचलित कुछ (Paryayvachi Shabd) महत्त्वपूर्ण पर्यायवाची शब्दों की सूची निम्नलिखित है –

( अ )

  • अंधकार – तमिस्र, अँधेरा, तमस, अंधियारा, तम, तिमिर।
  • अच्छा – शुभ, शोभन, उचित, उपयुक्त, ठीक, मुनासिब, वाज़िब, समुचित, युक्तिसंगत, न्यायसंगत, तर्कसंगत, योग्य।
  • अनाज – अन्न, गल्ला, नाज, खाद्यान्न।
  • अजेय – अजित, अपराजेय, अपराजित।
  • अतिथि – अभ्यागत, आगंतुक, मेहमान, पाहुना।
  • अटल – अविचल, अडिग, स्थिर, अचल। 
  • अनुचर – सेवक, दास, भृत्य, परिचारक, नौकर।
  • अनाड़ी – अकुशल, अनभिज्ञ, अपटु। 
  • अंतरिक्ष – खगोल, नभमंडल, गगनमंडल, आकाशमंडल।
  • अनुपम – अपूर्व, अद्वितीय, अनोखा, निराला, अनूठा, अभूतपूर्व।
  • अन्य – भिन्न, पृथक, और, दूसरा।
  • अमृत – सुधा, पीयूष, सोम, अमी, अमिय।
  • अपमान – अनादर, अवज्ञा, परिभव, तिरस्कार, अवहेलना, अवमानना।
  • अनुमान – अंदाज,अंदाजा, अटकल, कयास।
  • अंधा – सूरदास, आँधरा, नेत्रहीन, दृष्टिहीन।
  • अजनबी – अनजान, अपरिचित, नावाकिफ। 
  • अरण्य – वन, कानन, जंगल, अटवी, कान्तार, विपिन।
  • अश्व – घोड़ा, हय, तुरंग, घोटक, सैंधव, वाजि, तुरंगम, हरि, वाजि।
  • अनोखा – अजीब, अदभुत, विचित्र, विलक्षण। 
  • असुर – दैत्य, दानव, राक्षस, निशाचर, तमचर, निशिचर, रजनीचर, दनुज।
  • अहंकार – गर्व, घमंड, अभिमान, दंभ, दर्प, अस्मिता, अहं, अहंभाव, अहम्मन्यता, आत्मश्लाघा, मद, मान, मिथ्याभिमान।
  • अनुभवी – तजुर्बेकार, जानकार, अनुभवप्राप्त। 
  • अंदर – भीतर, आंतरिक, अंदरूनी, अभ्यंतर।
  • अंग – अंश, अवयव, हिस्सा, भाग। 
  • अंत – समाप्ति, अवसान, इति, इतिश्री, समापन।
  • अनिवार्य – अत्यावश्यक, अपरिहार्य, अवश्यंभावी, परमावश्यक। 
  • अंतर – भिन्नता, असमानता, भेद, फर्क।
  • अतीत – भूतकाल, विगत, गत, भूत।
  • अकड़बाज – ऐंठू, गर्वीला, घमंडी, अकड़ूखाँ, अहंकारी। 
  • अनपढ़ – निरक्षर, अशिक्षित, अपढ़। 

( आ )

  • आकाश – गगन, नभ, व्योम, अनंत, शून्य, द्यौ, तारापथ, पुष्कर, अभ्र, अम्बर, आसमान, अंतरिक्ष, अर्श।
  • आग – अग्नि, पावक, हुताशन, दहन, वह्नि, ज्वाला, अनल।
  • आज्ञा – आदेश, निर्देश, हुक्म।
  • आभूषण – जेवर, अलंकार, भूषण, विभूषण, गहना।
  • आम – आम्र, रसाल, अमृतफल, अतिसौरभ, मादक।
  • आनंद – हर्ष, सुख, आमोद, मोद, प्रसन्नता, आह्राद, प्रमोद, उल्लास।
  • आत्मा – जीव, देव, चैतन्य, चेतनतत्तव, अंतःकरण, रूह, जीवात्मा, जीव, अंतरात्मा।

( इ )

  • इंद्र – महेंद्र, देवराज, सुरेंद्र, अमरपति, देवेंद्र, सुरपति, पुरंदर, सुरेश, शचीपति।
  • इंद्रपुरी – देवलोक, देवपुरी, अमरावती, अलकापुरी, स्वर्ग।
  • इज्जत – मान, आबरू, सम्मान, प्रतिष्ठा।
  • इलजाम – आरोप, लांछन, दोषारोपण, अभियोग।
  • इंसान – आदमी, मानव, मनुष्य, मनुज, मानुष। 
  • इच्छा – आकांक्षा, मनोरथ, कामना, चाह, लालसा, अभिलाषा।

( ई )

  • ईश्वर – परमेश्वर, जगदीश, प्रभु, भगवान, खुदा, परमात्मा, ईश, दीनबंधु, त्रिलोकनाथ, अखिलेश्वर, जगन्नाथ।

( उ )

  • उद्यान – उपवन, कुसुमाकर, बगीचा, बाग, वाटिका।
  • उजला – उज्ज्वल, श्वेत, सफ़ेद, धवल।
  • उष्णीष – मुंड़ासा, पगड़ी, साफा, पाग, मुरेठा।
  • उन्नति – उत्थान, अभ्युदय, उन्नयन, विकास, उत्कर्ष, प्रगति।
  • उधार – कर्ज, ऋण, कर्जा, उधारी, कुसीद। 

( ऊ )

  • ऊँचा – गगनस्पर्शी, तुंग, उच्च, बुलंद। 
  • ऊँट – करभ, उष्ट्र, लंबोष्ठ, साँड़िया। 
  • ऊखल – उलूखल, कूँडी, ओखली।
  • ऊसर – अनुपजाऊ, बंजर, अनुर्वर, वंध्य। 
  • ऊधम – धूम, हुल्लड़, उपद्रव, उत्पात, हुड़दंग, धमाचौकड़ी।

( ए )

  • एषणा – इच्छा, अभिलाषा, हसरत, आकांक्षा, कामना। 
  • एहसान – कृपा, उपकार, अनुकम्पा, दया, अनुग्रह।
  • एकतंत्र – अधिनायकतंत्र, राजतंत्र, एकछत्र, तानाशाही। 
  • एकदंत – गणेश, गजानन, विघ्नेश, वक्रतुंड, विनायक, लंबोदर। 
  • एतबार – विश्वास, यकीन, भरोसा। 

( ऐ )

  • ऐक्य – एका, एकत्व, एकता, मेल।
  • ऐश्वर्य – समृद्धि, विभूति।
  • ऐंठ – कड़, दंभ, हेकड़ी, ठसक। 
  • ऐब – कमी, अवगुण, खामी, खराबी। 
  • ऐयार – चालाक, धूर्त, मक्कार। 
  • ऐहिक – सांसारिक, लौकिक, दुनियावी। 

( ओ )

  • ओज – तेज, शक्ति, बल, चमक, कांति, दीप्ति, वीर्य।
  • ओंठ – ओष्ठ, अधर, लब, होठ।
  • ओला – हिमगुलिका, उपल, करका, हिमोपल। 
  • ओस – नीहार, तुहिन, शबनम। 
  • ओहार – आवरण, परदा, आच्छादन। 

( औ )

  • औचित्य – उपयुक्तता, तर्कसंगति, तर्कसंगतता। 
  • औरत – स्त्री, मानवी, तिरिया, नारी, वनिता, घरवाली, जोरू, घरनी, महिला।
  • औषधालय – चिकित्सालय, दवाखाना, अस्पताल।
  • औलाद – संतान, संतति, आसऔलाद, बाल-बच्चे। 
  • औचक – अचानक, यकायक, सहसा।

( ऋ )

  • ऋक्ष – भालू, रीछ, भल्लाट, भीलूक, भल्लूक। 
  • ऋक्षेश – चंदा, चाँद, चंद्रमा, शशि, राकेश, कलाधर, कलानाथ, निशानाथ। 
  • ऋण – कर्ज, कर्जा, उधार, उधारी। 
  • ऋतुराज – बहार, मधुमास, वसंत, ऋतुपति, मधुऋतु। 
  • ऋषभ – वृष, पुंगव, बलीवर्द, वृषभ, बैल, गोनाथ। 
  • ऋषि – साधु, महात्मा, मुनि, योगी, तपस्वी। 
  • ऋष्यकेतु – मकरध्वज, मदन, कामदेव, मकरकेतु, मनोज, मन्मथ।

( क )

  • कपड़ा – वस्त्र, पट, परिधान, वसन, चीर, अंबर।
  • कचहरी – अदालत, न्यायालय, दंडालय।
  • कल्पद्रुम – देवद्रुम, कल्पवृक्ष, पारिजात, मन्दार, हरिचन्दन। 
  • कल्पवृक्ष – कल्पतरु, कल्पद्रुम, देववृक्ष, सुरद्रुम, सुरतरु।
  • कातिल – खूनी, हत्यारा, घातक। 
  • कोकिल – कोकिला, कोयल, पिक, श्यामा। 
  • कठिन – अगम, दुष्कर, दुःसाध्य, अगम्य। 
  • कछुआ – कच्छप, कमठ, कूर्म। 
  • कटक – फौज, सेना, पलटन, लश्कर, चतुरंगिणी। 
  • कृषक – किसान, खेतिहर, कृषिजीवी, हलवाहा।
  • कुंभ- घड़ा, गागर, घट, कलश। 
  • कुसुम- पुष्प, फूल, प्रसून, पुहुप। 
  • कृश- दुबला, क्षीणकाय, कमजोर, दुर्बल, कृशकाय। 
  • कृष्ण – घनश्याम, मोहन, वासुदेव, गिरिधर, गोपाल, श्याम, राधावल्लभ, वंशीधर। राधापति, माधव, केशव, गोविन्द, मुरारी, नन्दनन्दन, राधारमण, दामोदर, ब्रजवल्लभ, गोपीनाथ, मुरलीधर, द्वारिकाधीश, यदुनन्दन, कंसारि, रणछोड़, बंशीधर, गिरधारी।
  • कान – कर्ण, श्रवण, श्रुतिपट, श्रवणेंद्रिय।
  • कामधेनु – सुरभि, सुरसुरभि, सुरधेनु।
  • कामदेव – मदन, रतिपति, पंचशर, अतनु, कंदर्प, मन्मथ, मनोज, अनंग, मनोभव, मनसिज, पुष्पधन्वा, मार, मीनकेतु।
  • किनारा – तट, तीर, कूल।
  • कसूरवार – अपराधी, गुनहगार, मुलजिम।
  • कमल – अंबुज, वारिज, जलज, पंकज, नीरज, सरोज, नीरज, जलजात, शतदल, पुण्डरीक, पदम।
  • काल – समय, वक्त, वेला। 
  • काला – श्याम, कृष्ण, कलूटा, साँवला, स्याह। 
  • किनारा – तट, तीर, कगार, कूल, साहिल। 
  • किरण – किरन, अंशु, रश्मि, मयूख। 
  • कान – कर्ण, श्रुति, श्रुतिपटल, श्रवण, श्रोत, श्रुतिपुट।
  • किस्मत – होनी, विधि, नियति, भाग्य। 
  • कंजूस – कृपण, सूम, मक्खीचूस। 
  • किरण – अर्चि, गो, मयूख, ज्योति, प्रभा, मरीचि, कर, रश्मि, अंशु।
  • कुबेर – यक्षराज, राजराज, धनाधिप, धनद, धनपति।
  • कोमल – मृदु, मुलायम, सुकुमार, नरम, मसूण, नाजुक।
  • कबूतर – कपोत, रक्तलोचन, पारावत, कलरव, हारिल।
  • कोयल – पिक, कोकिल, परभृत, वसंतदूत, श्यामा।
  • कौशल – कुशलता, निपुणता, चातुर्य, चतुराई, दक्षता, प्रवीणता, पटुता।
  • कोप – प्रतिघात, आक्रोश, क्रोध, रोष, रिष, खीझ।
  • किताब – पोथी, ग्रन्थ, पुस्तक।
  • किसान – कृषक, भूमिपुत्र, हलधर, खेतिहर, अन्नदाता।

( ख )

  • खल – दुष्ट, धूर्त, कुटिल, दुर्जन, अधम, नीच।
  • खातिरदारी – आतिथ्य, मेहमानदारी, मेजबानी, मेहमाननवाजी।
  • खड़ाऊँ – उपानह, पनही, पादुका, पदत्राण। 
  • खार – कंटक, काँटा, सूल।
  • खेतीबाड़ी – कृषि, किसानी, काश्तकारी।

( ग )

  • गरीब – कंगाल, अकिंचन, निर्धन, रंक, दीनहीन, दरिद्र।
  • गंगा – भागीरथी, सुरनदी, देवसरी, त्रिपथगा, सुरसरि, जाह्नवी, सुरसरिता, देवनदी, मंदाकिनी।
  • गणेश – गजानन, लंबोदर, एकदंत, गणपति, विघ्नेश, मूषकवाहन, गजवदन, विनायक, गौरीसुत।
  • गँवार – अशिष्ट, असभ्य, जंगली, देहाती, उद्दंड, निरकुंश।
  • गरुड़ – खगकेतु, हरिवाहन, खगेश, वैनतेय, पक्षिराज।
  • गाय – गौ, धेनु, सुरभि।
  • गीदड़ – शृगाल, सियार, जंबूक।
  • गप्प – अफवाह, किंवदंती, जनश्रुति, जनप्रवाद। 
  • ग्रीष्म – गर्मी, ताप, निदाघ, घाम।
  • गायब – लुप्त, ओझल, अदृश्य।
  • गुरु – आचार्य, शिक्षक, अध्यापक, प्राध्यापक।
  • गुफा – कंदरा, खोह, विवर, गुहा। 

( घ )

  • घर – गृह, निकेतन, भवन, सदन, धाम, आलय, गेह, आवास, निकेत, आगार, मंदिर, निवास।
  • घोड़ा – घोटक, वाजि, तुरंग, हय, सैंधव, अश्व।
  • घूस – उत्कोच, रिश्वत।

( च )

  • चतुर – कुशल, दक्ष, प्रवीण, निपुण, पटु, नागर, होशियार।
  • चाँद – चंद्रमा, मयंक, महताब, निशाकर, हिमांशु, राकेश, कलानिधि, विधु, सोम, शशि, शशांक, इंदु, रजनीश, चंद्र, सुधांशु, मृगांक, सुधाकर, निशापति।
  • चाँदनी – चंद्रिका, ज्योत्स्ना, कौमुदी।
  • चरित्र – आचरण, चाल-चलन, बर्ताव, व्यवहार। 
  • चेहरा – आनन, मुखड़ा, मुँह, मुखमंडल, मुख। 

( छ )

  • छुटकारा – उद्धार- मुक्ति, निस्तार, रिहाई।

( ज )

  • जंगल – वन, विपिन, कानन, कांतार, अरण्य।
  • जन्म – उत्पत्ति, उद्भव, आविर्भाव।
  • जहर – कालकूट, विष, गरल, हलाहल। 
  • जल – पानी, तोय, वारि, नीर, सलिल, अंबु, उदक, पय, जीवन।
  • जालिम – अत्याचारी, आततायी, नृशंस, बर्बर।
  • जोश – उत्साह, उमंग, उछाह। 

( ड )

  • डरपोक – कायर, कापुरुष, बुजदिल।

( ढ )

  • ढीठ – उद्दंड, अशिष्ट, बेअदब, गुस्ताख़। 

(त )

  • तलवार – खड्ग, असि, कृपाण, करवाल, चंद्रहास, शमशीर।
  • तट – किनारा, तीर, कूल, कगार।
  • तारा – नक्षत्र, नखत, तारक, तारिका, उड़।
  • तालाब – सर, सरोवर, पुष्कर, तड़ाग, जलाशय, ताल, पोखर।
  • तजुर्बेकार – अनुभवी, जानकार, अनुभवप्राप्त। 
  • तूफान – बवंडर, झंझावत, अंधड़। 
  • तरकीब – उपाय, युक्ति, साधन, तदबीर, यत्न, प्रयत्न।
  • तोहफा – उपकार, भेंट, नजराना।
  • तोता – कीर, सुग्गा, सुआ, शुक। 
  • तेज – क्षिप्र, तीव्र, द्रुत, शीघ्र, तुरंत।

( थ )

  • थोड़ा – तनिक, जरा, अल्प, न्यून, किंचित। दाँत-दंत, द्विज, दशन।

( द )

  • दिन – वासर, दिवस, वार, दिवा।
  • दुख – कष्ट, पीड़ा, क्लेश, वेदना।
  • दुर्गा – कल्याणी, महागौरी, सिंहवाहिनी, जगदंबा, काली, चंडी।
  • दुष्ट – दुर्जन, शठ, कुटिल, खल, वंचक, धूर्त।
  • दूध – दुग्ध, पय, गोरस, क्षीर।
  • दिल – उर, हृदय, वक्षस्थल। 
  • देवता – देव, सुर, निर्जर, अमर, विबुध, अजर।
  • दुआ – आशीर्वाद, शुभकामना, आशीष, आशिष।
  • दुर्बल – कमजोर, निर्बल, बलहीन, मरियल, शक्तिहीन। 

( ध )

  • धन – वित्त, अर्थ, संपत्ति, लक्ष्मी, श्री, द्रव्य।
  • धनुष – कोदंड, चाप, शरासन, कार्मुक, कमान।
  • ध्वजा – झंडा, पताका, ध्वज, केतु, निशान, केतन।
  • धनी – अमीर, मालदार, रईस, दौलतमंद, धनवान। 

( न )

  • नदी – आपगा, निम्नगा, सरिता, सरि, तटिनी, तरंगिणी, निर्झरिणी।
  • नारी – महिला, वनिता, स्त्री, कामिनी, औरत, अबला, ललना, कांता, अंगना, रमणी, सुंदरी।
  • नाश – ध्वंस, तबाही, विनाश।
  • नतीजा – अंजाम, परिणाम, फल।
  • नमकहराम – अकृतज्ञ, अहसान- फ़रामोश, बेवफा। 
  • नौका – तरी, नाव, तरिणी, बेड़ा, डोंगी।
  • नाविक – केवट, मल्लाह, माँझी, खेवैया।
  • नाराज – कुद्ध, कुपित, क्रोधित, क्रोधी। 
  • नापाक – अपवित्र, अशुद्ध, अस्वच्छ, दूषित।
  • निवास – आवास, निवास-स्थान, घर, निलय, निकेत।
  • नैन – आँख, दृग, लोचन, चक्षु, नेत्र, नयन, विलोचन, अक्षि, अम्बक, नयन, दृष्टि।

( प )

  • पंडित – विद्वान, सुधी, मनीषी, बुध, कोविद।
  • पक्षी – खग, अंडज, शकुनि, विहग, पतंग, द्विज, विहंगम, पखेरू, नभचर।
  • पति – स्वामी, भर्ता, नाथ, वल्लभ, बालम, साजन, कांत, वर।
  • पत्ता – पत्र, पर्ण, दल, पात।
  • पत्थर – पाषाण, उपल, पाहन, प्रस्तर, अश्म।
  • पत्नी – भार्या, जीवनसंगिनी, वधू, गृहिणी, प्रिया, स्त्री, अद्धांगिनी, अंगना, कांता, वामा, दारा, वामांगी, सहधर्मिणी।
  • पोलोमी – इन्द्राणि, इन्द्रवधू, मधवानी, शची, शतावरी।
  • पढ़ना – अध्ययन, पठन-पाठन, पढ़ाई, पठन। 
  • पर्वत – चट्टान, अचल, गिरि, शैल, भूधर, महीधर, नग, पहाड़, अद्रि, भूमिधर।
  • पवन – वायु, अनिल, समीर, वात, मारुत, हवा, बयार, पवमान, प्रभंजन।
  • परवश – अधीन, मातहत, आश्रित, पराश्रित, परतंत्र। 
  • पवित्र – पावन, पूत, शुचि, शुद्ध, पुण्य, निर्मल, अकलुष, निष्कलुष।
  • पाप – अधर्म, अघ, पातक, दुष्कृत्य।
  • पाबंदी – अंकुश, नियंत्रण, रोक, दबाव।
  • पुरस्कार – इनाम, पारितोषिक, बख्शीश। 
  • पुत्री – तनया, कन्या, सुता, तनुजा, लड्की, बेटी, आत्मजा, दुहिता।
  • पूजा – अर्चना, आराधना, पूजन, अर्चन।
  • पुरुष – मनुज, आदमी, नर, मनुष्य, मर्द, जन।
  • फूल – सुमन, प्रसून, पुष्प, कुसुम, पुहुप।
  • पृथ्वी – धरा, धारयित्री, भूमि, धरा, वसुंधरा, मही, भू, अचला, धरती, धरणी, उर्वी, वसुधा, अवनि, धरित्री, मेदिनी, वसुमती।
  • प्रकाश – उजाला, ज्योति, चमक, द्युति, प्रभा, रोशनी।
  • प्राकृतिक – स्वाभाविक, नैसर्गिक, प्रकृत, कुदरती।

( फ )

  • फरमान – आज्ञा, हुक्म, आदेश। 
  • फैसला – इंसाफ, न्याय, अद्ल।

( ब )

  • बंदर – वानर, कपि, हरि, मर्कट, शाखामृग।
  • बर्फ – तुषार, तुहिन, हिम, नीहार।
  • बाग – वाटिका, उपवन, उद्यान।
  • बाल – केश, कच, कुंतल, चिकुर, शिरोरूह, अलक।
  • बालक – बाल, शिशु, बच्चा, लड़का।
  • बिजली – विद्युत, तड़ित, चपला, चंचला, दामिनी, सौदामिनी।
  • बुद्धि – धी, मति, मेधा, प्रज्ञा, विवेक, मनीषा, अक्ल।
  • बेटा – सुत, तनय, पुत्र, आत्मज, बेटा, पूत, तनुज।
  • बेहतर – अच्छा, बढ़िया, भला, चोखा, उत्तम। 
  • ब्रह्मा – विधि, विधाता, चतुर्मुख, स्रष्टा, प्रजापति, चतुरानन्।
  • ब्राह्मण – भूसुर, भूदेव, विप्र, द्विज।
  • बाधा – अड़ंगा, रुकावट, विघ्न, व्यवधान। 
  • बहुमूल्य – अनमोल, अमूल्य, बेशकीमती।
  • बेसहारा – अनाथ, तीम, लावारिस, अनाश्रित।
  • बेरहम – क्रूर, बेदर्द, बेदर्दी, बर्बर। 

( भ )

  • भौरा – भंवरा, मधुप, अलि, मधुकर, षट्पद, द्विरेफ, भ्रमर, शृंग।
  • भरोसा – उम्मीद, आशा, आस। 
  • भला – कल्याण, भलाई, परहित, उपकार।

( म )

  • मनुष्य – मनुज, आदमी, इनसान, मानव, नर।
  • मल – शतदल, पुंडरीक, उत्पल, वारिज, नीरज, सरसिज, पद्म, नलिन, राजीव, सरोज, पंकज, अरविंद, अंबुज, जलज, कंज, इंदीवर, सरसीरूह, तामरस।
  • मदिरा – मद्य, सुरा, वारुणी, शराब, मधु।
  • मधु – वसंत, कुसुमाकर, माधव, ऋतुराज मछली-मीन, मत्स्य, शफरी।
  • मठ – आश्रम, कुटी, स्तर, विहार, संघ, अखाड़ा।
  • मकसद – उद्देश्य, लक्ष्य, प्रयोजन।
  • मयूर – मोर, शिखी, केकी।
  • मजाक – उपहास, परिहास, खिल्ली। 
  • महादेव – शिव, आशुतोष, शंकर, रुद्र, महेश, पशुपति, त्रिलोचन, शंभु, सतीश, चंद्रशेखर, गौरीपवि, कैलाशनाथ, त्रिपुरारि।
  • माता – मातृ, जननी, अंबा, माँ।
  • मित्र – मौत, सखा, सहचर, दोस्त, सुहृद।
  • मिथ्या – झूठ, मृषा, असत्य, अयथार्थ।
  • मुक्ति – मोक्ष, निर्वाण, परमपद, सद्गति, कैवल्य।
  • मृत्यु – अंतकाल, मौत, अंत, निधन, देहांत, देहावसान।
  • मेघ – पयोद, वारिद, अंबुद, जलद, धराधर, बादल, नीरद, जलधर, पयोधर, घन।
  • मिसाल – उदाहरण, नजीर, दृष्टांत। 

( य )

  • यम – धर्मराज, यमराज, सूर्यपुत्र।
  • युद्ध – रण, समर, संग्राम, लड़ाई, संघर्ष, विग्रह।
  • यीशु – ईसा, ईसामसीह, मसीहा। 

( र )

  • राक्षस – यातुधान, निशिचर, रजनीचर, दनुज, दैत्य, तमचर, असुर, निशाचर, दानव, रात्रिचर।
  • राजा – नृप, महीप, नरेश, भूप, नरेंद्र, भूपति, नृपति।
  • रात्रि – रात, निशा, यामा, निशि, यामिनी, रजनी, विभावरी, रैन।
  • रावण – दशकंध, दशानन, लंकापति, दशकंठ।

( ल )

  • लक्ष्मी – श्री, रमा, कमला, चंचला, इंदिरा, चपला, विष्णुप्रिया।
  • लहू – रक्त, लाल, शोणित, रुधिर, खून।
  • लालसा – इच्छा, अभिलाषा, अभिप्राय, चाह, कामना, ईप्सा, स्पृहा, ईहा, वांछा, लिप्सा, मनोरथ, आकांक्षा।

( व )

  • विष्णु – नारायण, केशव, लक्ष्मीपति, माधव, अच्युत, गोविंद, चतुर्भुज, उपेंद्र।
  • वृक्ष – पादप, पेड़, तरु, द्रुम, विटप, दरख्त।
  • वायस – काक, कौआ, काग, करठ, पिशुन। 
  • वचन – उक्ति, कथन, सूक्ति।
  • विरोध – उज्र, ऐतराज, आपत्ति। 
  • विनती – अनुरोध, विनय, आग्रह, प्रार्थना। 
  • वय – आयु, उम्र, जीवनकाल।
  • विकास – उत्कर्ष, उन्नति, प्रगति, तरक्की। 

( श )

  • शत्रु – वैरी, विपक्षी, रिपु, अरि, दुश्मन।
  • शांति – अमन, सुकून, सुख-चैन, अमन-चैन। 
  • शोकाकुल – पीड़ित, व्यथित, दुखी, व्याकुल, विषण्ण, खिन्न।
  • शिवा – उमा, गौरी, गौरा, गिरिजा, पार्वती, शैलजा, अपर्णा। 
  • शोभा – कांति, छटा, प्रभा, द्युति, विभा, आभा, सुषमा।
  • शीशा – आईना, दर्पण, आरसी।
  • शुभारंभ – आरंभ, श्रीगणेश, प्रारंभ, शुरुआत, समारंभ। 

( स )

  • संसार – जग, विश्व, जगत, दुनिया, भव।
  • सच्चा – ईमानदारी, सत्यपरायण, नेकनीयत, सत्यनिष्ठ।
  • समुद्र – सागर, सिंधु, रत्नाकर, पयोधि, अंबुधि, पारावार, अंबुनिधि, जलनिधि, उदधि, जलधि, नदीश, वारीश, पयोनिधि।
  • समूह – समुदाय, वृंद, गण, पुंज, दल, टोली, इंड।
  • सरस्वती – भारती, भाषा, शारदा, वाक्, गिरा, श्री, वागीश्वरी।
  • सर्व – संब, समस्त, अखिल, समग्र, संपूर्ण, पूर्ण, सारा, निखिल।
  • स्वागत – अभिनंदन, सत्कार, आवभगत, अभिवादन। 
  • सवेरा – प्रातः, उषा, भोर, अरुणोदय, सूर्योदयकाल।
  • साँप – सर्प, नाग, अहि, भुजंग, पन्नग, विषधर, फणधर, फणि, व्याल।
  • साधु – मुनि, यति, अवधूत, वैरागी, वीतराग, संत, संन्यासी।
  • सिंह – शेर, पंचमुख, केसरी, मृगराज, मृगेंद्र, मृगपति, हरि, वनराज, व्याघ्र, पंचानन।
  • सुगंधि – सुवास, सौरभ, महक, खुशबू, सुरभि।
  • सूरज – अंशुमान, सूर्य, दिनकर, दिवाकर, प्रभाकर, भास्कर, मार्तड, पतंग, हंस, अर्क, तरणि, अंशुमाली, भानु, सविता, आदित्य, रवि, दिनेश।
  • सेना – चमु, अनी, दुल, कटक, फौज, वाहिनी, अनीकिनी।
  • सोना – स्वर्ण, हेम, सुवर्ण, कनक, कंचन, हिरण्य, हाटक।
  • समृद्धि – उत्कष, उन्नति, प्रगति, प्रशंसा, बढ़ती, उठान।
  • स्तन – पयोधर, उरोज, थन, वक्ष।
  • सुबह – भोर, भिनसार, अलस्सुबह, ब्रह्ममुहूर्त। 
  • स्त्री – नारी, ललना, कांता, अंगना, कामिनी, सुंदरी, वनिता, रमणी।
  • सीता- वैदेही, जानकी, भूमिजा, जनकतनया, जनकनन्दिनी, रामप्रिया।
  • स्वर्ग – द्युलोक, बैकुंठ, देवलोक, सुरलोक।
  • स्वीकृति – मंजूरी, अनुमति, इजाजत, सहमति, अनुमोदन। 
  • साँप – अहि, नाग, फणी, फणधर, सर्प।
  • स्वतंत्रता – आजादी, स्वाधीनता, मुक्ति। 

( ह )

  • हनुमान – अंजनीनंदन, महावीर, वज्रांगी, बजरंगबली, केसरीनंदन, कपीश्वर, पवनसुत।
  • हृदय –  हिय, उर, छाती, वक्ष, वक्षस्थल।
  • हाथ – हस्त, पाणि, कर।
  • हिमालय – हिमगिरी, हिमाचल, गिरिराज, पर्वतराज, नगपति, हिमपति, नगराज, हिमाद्रि, नगेश।
  • हाथी – मतंग, करी, दंती, हस्ती, गज, कुंजर।
  • हिरण – कुरंग, सारंग, मृ।

Thank you for reading Paryayvachi Shabd or Synonyms in Hindi. Don’t forget to give us your feedback on Paryayvachi Shabd.

पर्यायवाची शब्द (Paryayvachi Shabd) या समानार्थी शब्द (Samanarthi Shabd) पर अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *