पोस्टमास्टर को डाकिये की शिकायत के लिए पत्र | Postmaster Ko Shikayat Patra

मान लो आप मनोज है। आप मुहल्ला पक्का बाग, जालन्धर में रहते हैं। आप पोस्टमास्टर को डाकिये की शिकायत के लिए पत्र लिखो। Postmaster Ko Shikayat Patra | पोस्टमास्टर को डाकिये की शिकायत के लिए पत्र.

Postmaster Ko Shikayat Patra

सेवा में
          श्रीमान् डाकपाल महोदय,

          जालन्धर।

मान्यवर,

         इस पत्र के द्वारा मैं आपका ध्यान अपने मुहल्ले पक्का बाग में पत्र वितरित करने वाले डाकिया मोहन कुमार के अप्रिय व्यवहार की ओर आकृष्ट करवाना चाहता हूं। श्री मोहन कुमार जी डाक बांटने में अत्यन्त लापरवाही से काम करते हैं। नियमित समय पर आना इन्होंने कभी सीखा ही नहीं। कभी-कभी तो संध्या की डाक वितरण करने के बजाए साथ में घर ले जाते हैं और दूसरे दिन बांटते हैं। मुझे एक आवश्यक इन्टरव्यू पत्र की प्रतीक्षा थी जो मुझे एक दिन देर से प्राप्त हुआ। पोस्ट ऑफिस से पता करने से ज्ञात हुआ कि वह पत्र इन्हें पहले दिन सौप दिया गया था। इससे मैं इन्टरव्यू में भाग नहीं ले सका। आप स्वयं अनुमान लगा सकते हैं कि इन्होंने किस प्रकार मेरे भविष्य से खिलवाड़ की है।


         दूसरी बात वे पत्र घर में भी ठीक तरह से नहीं देते हैं। कभी बच्चों के हाथ में गली में दे देते हैं जिससे बच्चे उन्हें कभी फाड़ डालते हैं और कभी नाली में फेंक देते है। घर में लगी पत्र-पेटिका में वे कभी पत्र नहीं डालते हैं। यदि उनसे कुछ कहें तो बहुत ही असभ्यता से बात करते है।


         आप से विशेष प्रार्थना है कि या तो श्री मोहन कुमार जी को उचित व्यवहार एवं कार्य करने का ढंग सिखाया जाए अथवा इन्हें इस मुहल्ले से बदल दिया जाए। मैं इसके लिए आपका आभारी रहूंगा।

                                                 धन्यवाद।

प्रार्थी
मनोज कुमार
पक्का बाग जालन्धर।

तिथि 10 अगस्त, 19….

Thank you for reading the Postmaster Ko Shikayat Patra. Send your feedback through the comment box.

अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे।

Share this :