What is GST in Hindi and Essay on GST in Hindi

What is GST in Hindi/ Gst kya hai Hindi me? We are going to write an essay on GST in Hindi which will help you enhance information about GST in Hindi. कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 और 12 के बच्चों और विद्यार्थियों के लिए जीएसटी पर निबंध हिंदी में। After reading article on GST in Hindi most of you will get to what is GST in India in Hindi.

Good and Service Tax in Hindi language was as in exams. You make get questions like what is GST benefits in Hindi, GST history in Hindi, Types of GST in Hindi , GST details in Hindi, GST notes in Hindi and all about GST in Hindi. Now you can describe GST in Hindi and give GST knowledge/ information in Hindi to your family and friends.

hindiinhindi Essay on GST in Hindi

Essay on GST in Hindi 500 Words जीएसटी पर निबंध

‘एक देश, एक टैक्स’

परिचय

GST यानी वस्तु एवं सेवा कर इसके तहत भारत एक सिंगल टैक्स वाली अर्थव्यवस्था बन जायगा। जीएसटी के लागू होने से सामानों और सेवाओं पर लगने वाले अलग अलग टैक्स खत्म हो जायेंगे और देश के सभी लोग सिर्फ एक तरह का टैक्स देंगे जिसे जीएसटी के नाम से जाना जाता है। भारत सरकार ने कर सुधार हेतु 122 संविधान संशोधन विधेयक को मंजूरी दे दी और 1 July 2017 से पूरे देश में जीएसटी यानी वस्तु एवं सेवा कर लागू कर दिया गया।
मुख्य भाग

जीएसटी की आवश्यकता

GST के लागू होने से पहले पूरे भारत में कई सामानों की कीमत अलग अलग राज्यों में अलग अलग होती थी क्योंकि उस समय पूरे भारत में कर ढांचा बहुत ही जटिल था। उस स्थिति में हमें किसी भी वस्तु पर करीब 30 से 35% तक कर चुकाना पड़ता था। कुछ वस्तुओं पर तो प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तरीके से लगाया जाने वाला यह कर 50% तक पहुंच जाता था।

“जीएसटी से बदलेगा देश, यही है जीएसटी का सन्देश”

पूरे देश में किसी वस्तु की कीमत एक जैसी करने के लिए जीएसटी की आवश्यकता है और इससे सरकार के राजस्व में तीव्र वृद्धि की संभावना है।

जीएसटी के लाभ

जीएसटी लगने के बाद कई सेवाओं और वस्तुओं पर लगने वाले अलग अलग टैक्स खत्म हो गए और ‘एक देश, एक टैक्स’ का नियम लागू हो गया। जीएसटी के तहत 5%, 12%, 18% और 28% के टैक्स स्लैब बनाए गए।

एक ही कर लगने से भारत के सभी राज्यों के मध्य व्यापार करना सरल हो जाएगा। GST के लागू होने से जीडीपी में 2% की वृद्धि हो सकती है। इसके लागू हो जाने से टैक्स की चोरी में कमी आएगी तथा टैक्स पर टैक्स वाली दोहरी टैक्स व्यवस्था से भी छुटकारा मिल जाएगा।

जीएसटी के नुक्सान

GST विधेयक के लागू होने से राज्यों को व्यापक तौर पर नुकसान होने की संभावना है क्योंकि जीएसटी के लागू होने के बाद वे कई प्रकार के कर जैसे वैट एंट्री टैक्स चुंगी वसूल नहीं पाएंगे। इससे होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए एक उचित व्यवस्था की गई है कि प्रत्येक राज्य को पहले तीन वर्षों के लिए 100% मुआवजा दिया जाएगा जबकि चार वर्ष के बाद 75% और पांच वर्ष के बाद 50% राजस्व क्षति पर क्षतिपूर्ति प्रदान करने का प्रावधान किया गया है।

निष्कर्ष

“जीएसटी बिल का करो स्वागत, इससे मिलेगी अर्थव्यवस्था को ताकत”

कर प्रणाली किसी भी देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी होती है। यह जितनी ज्यादा मजबूत होगी आर्थिक ढांचा उतना ही अधिक मजबूत होगा। यह विधेयक आज आम आदमी के लिए काफी फायदेमंद है क्योंकि जी एस टी लगने के बाद सभी जगह वस्तुएं एक समान दाम पर मिलेंगे।

More Topic in Hindi

Essay on Corruption in Hindi

Make in India Essay in Hindi

Essay on Politics in Hindi

Essay on Inflation in Hindi

Bhrashtachar Par Sampadak Ko Patra

Essay on Demonetisation in Hindi

Thank you for reading. Don’t forget to give us your feedback.

अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *